मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना 2018 मैं बड़ा भ्रष्टाचार का खुलासा


By Kesarianews :01-10-2018 15:45


मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना 2018 मैं बड़ा भ्रष्टाचार का खुलासा भोपाल नगर पालिक निगम के अंतर्गत संबल योजना में फर्जी नाम पतों से गलत तरीके से लिया जा रहा है योजना का लाभ *केसरिया न्यूज़ का बड़ा खुलासा* *एक्सक्लूसिव kesarianews.com* *केसरिया खबर केसरिया नजर* भोपाल 01 अक्टूबर 2018 केसरिया टीम ने अपनी पड़ताल में मध्य प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक संबल योजना में किए जा रहे फर्जीवाड़े को पकड़ा है। भोपाल में अब तक 503308 (पांच लाख तीन हज़ार तीन सौ आठ) पंजीयन हुए हैं 35498 आवेदन पंजीयन के लिए लंबित है। 401077 (चार लाख एक हज़ार 77) अकेले भोपाल नगर निगम ने पंजीयन अभी तक किए हैं । केसरिया न्यूज़ की टीम ने पाया कि भोपाल के एक निगम वार्ड नंबर 71 जोन क्रमांक 10 में कुछ मुस्लिम महिलाओं के नाम के साथ हिंदू पुरुष पिता/पति का नाम लिखा गया है , एवं पते में सिर्फ वार्ड और जोन नंबर लिखा है । हमारे हाथ लगे ऐसे कुछ कार्ड्स के आधार पर हमारी टीम ने जब पड़ताल शुरू की तो बड़े भ्रष्टाचार की गंध इस मामले में आने लगी । ये केवल सामान्य त्रुटि नही मानी जा सकती ये तो सिर्फ एक निगम वार्ड का उदाहरण है। सूचना के अधिकार के तहत एक RTI कार्यकर्ता द्वारा जब नगर निगम भोपाल के वार्ड क्रमांक 20 और जोन क्रमांक 4 से जानकारी ली गयी तो ,इस वार्ड में बीते माह के बीच मे 1100 से अधिक आवेदन आये और 600 के लगभग पंजीयन किये गए । रोचक बात ये है कि इस वार्ड से निगम को सर्वाधिक राजस्व वसूली मिलती है। जानकारी अनुसार मप्र में इस योजना का लाभ लेने के लिए अब तक 2,21,99,684 पंजीकृत सदस्य बनाये गए हैं, और 11,68,768 अभी पंजीयन लंबित हैं। जब संबंधित अधिकारियों से विनोद शुक्ल (उपायुक्त राजस्व) सीबी मिश्रा (सहायक आयुक्त) योजना से बात की गई तो जांच और कार्यवाही तो दूर , इस गलती की जानकारी ना होने की बात कहकर संबंधित अधिकारी अपना पल्ला झाड़ने लगे। एक ने भोपाल से बाहर होने का हवाला दिया और दूसरे ने वक्तव्य न दे पाने की बात कही। *हम आपको बताते हैं क्या है पूरा मामला और योजना* दरअसल मुख्यमंत्री जन कल्याण संभल योजना 2018 मध्य प्रदेश शासन के श्रम विभाग अंतर्गत शुरू की गई जिसे मुख्यमंत्री की सबसे प्रभावशाली एवं लाभप्रद योजना माना जा रहा है । जिसमें कई सौ लाख असंगठित शहरी एवं ग्रामीण लोगों लोगों को बिजली बिल में राहत से लेकर और कई महत्वपूर्ण विषयों में लाभ दिया जा रहा है। सरल बिजली बिल योजना अनुग्रह सहायता योजना शिक्षा प्रोत्साहन योजना निशुल्क चिकित्सा योजना प्रसूति सहायता योजना अंत्येष्टि सहायता योजना और उपकरण अनुदान योजना जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं शामिल हैं। जिस का बजट कई सौ करोड रुपए में है। अब इस योजना में हो रहे भ्रष्टाचार पर नजर डाल लेते हैं। *जरूरतमंदों से कैसे छीना जा रहा है उनका हक* *पंजीयन प्रमाण पत्र के कुछ उदाहरण* *भोपाल निगम क्षेत्र का मामला* पंजीयन क्रमांक- 157734158 नाम - तबस्सुम खान पिता/पति का नाम - काशी कुमार जन्म तिथि- 03/04/1978 पता वार्ड 71 जोन क्रमांक 10 नगर निगम भोपाल पंजीयन क्रमांक- 1780 80634 नाम -तबस्सुम बी पिता/पति का नाम -राम सिंह जन्म तिथि- 01/01/1965 पता वार्ड 71 जोन क्रमांक 10 नगर निगम भोपाल पंजीयन क्रमांक -170564295 नाम - तवासुम अलीम पिता/पति का नाम - अर्जुन जंजाल जन्म तिथि- 01/01/1987 पता वार्ड 71 जोन क्रमांक 10 नगर निगम भोपाल पंजीयन क्रमांक -170407288 नाम - तस्लीम बी पिता/पति का नाम - प्रेम यादव जन्म तिथि- 01/01/1983 पता वार्ड 71 जोन क्रमांक 10 नगर निगम भोपाल यहां गौर करने वाली बात है की चार कार्डों में ,चार अलग-अलग पंजीयन क्रमांक में, 4 मुस्लिम महिलाओं के नाम हैं ,और जिनके पिता या पति के आगे हिंदू नाम लिखे हैं एवं पते में सिर्फ़ वार्ड और जोन लिखा हुआ है। ये 4 कार्ड तो सिर्फ उदाहरण हैं एक ही वार्ड के। केसरिया सूत्रों से मिल रही जानकारी अनुसार ऐसे कई हजार फर्जी कार्ड बनाकर सरकारी खजाने को चूना लगाया जा रहा है। और ज़रूरतमंदों के हक पर डाका। केसरिया खबर केसरिया नजर #sambal #yojna #cmshivraj #bmc #bhopal #corruption Source:Agency

 
 
 

Related News

 

मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना 2018 मैं बड़ा भ्रष्टाचार का खुलासा

मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना 2018 मैं बड़ा भ्रष्टाचार का खुलासा भोपाल नगर पालिक निगम के अंतर्गत संबल योजना में फर्जी नाम पतों से गलत तरीके से लिया जा रहा है योजना का लाभ *केसरिया न्यूज़ का बड़ा खुलासा* *एक्सक्लूसिव kesarianews.com* *केसरिया खबर केसरिया नजर* भोपाल 01 अक्टूबर 2018 केसरिया टीम…