Chhattisgarh : सरकार की चूक का नतीजा, फिर बढ़ेगी निजी स्कूलों की फीस


By Kesarianews :11-02-2019 07:18


रायपुर। छत्तीसगढ़ में निजी स्कूलों की फीस पर सरकारी नियंत्रण नहीं है। नतीजा यह हो रहा है कि हर साल निजी स्कूलों में 15 से 20 फीसद तक फीस बढ़ रही है। साल 2019-20 में एक बार फिर निजी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके लिए मोटी फीस भी लगभग तय हो चुकी है।

राज्य में इंजीनियरिंग और मेडिकल की शिक्षा के लिए फीस तय करने के लिए फीस विनियामक समिति है, लेकिन निजी स्कूलों में इंजीनियरिंग से अधिक फीस पालकों से ऐंठी जा रही है। पिछले सालों में सरकारों ने स्कूली फीस को नियंत्रित करने के लिए कमेटी बनाने का सिर्फ दावा किया, हकीकत में कोई मापदंड ही नहीं है।

यह स्थिति तब है जब प्रदेश के अलावा दूसरे राज्यों में स्कूलों की फीस तय करने के लिए बाकायदा नियम और कानून बना लिए गए हैं। हालांकि प्रदेश में फीस के लिए पालक कमेटी बनी है, लेकिन इसमें चंद पालकों को राहत देकर निजी स्कूल मिलीभगत करके फीस तय कर लेते हैं।

सरकार ने दे रखी है छूट 

पालकों का कहना है कि निजी स्कूलों में फीस के नियंत्रण के लिए दूसरे राज्यों में कानून हैं पर प्रदेश में इस पर छूट दे दी गई है। कानून के तहत निजी विद्यालयों की फीस में 11 प्रकार के शुल्क शामिल किए गए हैं।

इसमें शिक्षण शुल्क, पुस्तकालय फीस, खेल फीस, लैब फीस, कम्प्यूटर फीस, काशन मनी, परीक्षा फीस, विभिन्न् अवसरों पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की फीस, प्रवेश फीस, पंजीकरण-विवरण पत्रिका-प्रवेश आवेदन प्रारूप फीस तथा कोई अन्य फीस विद्यार्थियों से वसूल की जाती है। लेकिन यह फीस कितनी होगी, यह तय नहीं है।

हजार तक में बिक रही विवरण पत्रिका 

राजधानी में ही कई निजी स्कूल ऐसे हैं जहां विवरण पत्रिका ही 500 से 1000 रुपए तक में बिक रही है। इस पर निगरानी के लिए कोई सिस्टम नहीं बन पाया है। प्रदेश में तीन तरह के निजी स्कूल संचालित हैं।

इनमें एक रसूखदारों का स्कूल है, जहां पर न्यूनतम फीस 50 हजार रुपए से शुरू होकर सवा लाख रुपए तक है। दूसरे मध्यम स्कूल हैं जहां फीस 30 से 70 हजार रुपये तक है और सबसे निचले स्तर पर निजी स्कूलों में फीस न्यूनतम 10 हजार रुपए वार्षिक से लेकर 35 हजार रुपए तक है। सबसे अधिक संख्या निचले स्तर के स्कूलों की है, जहां सबसे अधिक पालक फीस दे रहे हैं।

दूसरे राज्यों में कार्रवाई का प्रावधान 

जन राज्यों में स्कूलों की फीस पर नियंत्रण के लिए कानून बनाए गए हैं, वहां फीस ज्यादा बढ़ाने पर कार्रवाई का प्रावधान है। कई राज्यों में कानून अभी पाइप लाइन पर है। छत्तीसगढ़ में सालों से यह प्रस्ताव लंबित है। पिछली सरकार की कैबिनेट तक यह प्रस्ताव जाने के बाद इसे ठुकरा दिया गया था।

मध्यप्रदेश

मध्य प्रदेश में अब निजी विद्यालयों द्वारा वसूली जाने वाली भारी भरकम फीस पर नियंत्रण स्थापित हो गया है। मध्य प्रदेश में निजी स्कूल एक साल में 10 प्रतिशत से ज्यादा फीस नहीं बढ़ा सकते। पहली बार नियम तोड़ने पर 2 लाख रुपये जुर्माना, दूसरी बार पर 4 लाख और तीसरी बार नियम तोड़ने पर मान्यता रद कर दी जाती है।

तमिलनाडु 

तमिलनाडु सरकार ने 2009 में स्कूली फीस नियंत्रण के लिए कानून बनाया। पूर्व जज के नेतृत्व में कमेटी बनी है जो हर साल फीस निर्धारित करती है। नियमों का पालन नहीं करने पर कम से कम 3 से 7 साल की सजा और 5000 रुपए जुर्माना लगाया जा सकता है।

झारखंड

साल 2017 में झारखंड सरकार ने निजी स्कूलों में मनमानी फीस वृद्धि को रोकने के लिए झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण संशोधन विधेयक 2017 को मंजूरी दी।

उत्तर प्रदेश

यूपी में निजी स्कूलों में फीस पर योगी सरकार लगाम लगाएगी। दावा किया गया है कि स्कूलों में फीस की प्रक्रिया को नियमित करने के लिए कानून बनेगा। इसकी प्रक्रिया चल रही है।

फीस स्कूल प्रबंधन अकेले नहीं तय करता है। यहां फीस के लिए पालक समिति और नोडल के अधिकारी भी होते हैं। फिर हमें दोष क्यों दिया जाता है? - बीडी द्विवेदी, अध्यक्ष, फेडरेशन ऑफ एजुकेशनल सोसायटीज

Source:Agency

 
 
 

Related News

 

Chhattisgarh भाजपा की साइट पर हैकर ने लहराया पाकिस्तानी झंडा

रायपुर। छत्तीसगढ़ भाजपा की आधिकरिक वेबसाइट पर हैकर ने पाकिस्तानी झंडा लहरा दिया है। भारतीय जनता पार्टी की वेबसाइट सीजी स्टेट डॉट बीजेपी डॉट ओआरजी (बीजेपीसीजी डॉट कॉम) को हैक कर साइट पर पाकिस्तान की सेना को परेड करते दिखाया गया है। हैक करने की अधिकारिक जिम्मेदारी फैजल ने ली…

Bhilai:स्वाइन फ्लू से BSP अधिकारी की बेटी की मौत, CG में अब तक 11 मौते

भिलाई । छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू की बीमारी तेजी के साथ फैल रही है। इससे यहां अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। बुधवार की रात भिलाई के पं जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर 9 में भर्ती एक 16 साल की किशोरी ने दम तोड़…

Chhattisgarh : रमन सिंह बोले, कश्मीर से हटाओ धारा 370

धमतरी । पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद जम्मू कश्मीर के धार 370 हटाने की मांग तेज होने लगी है। अब छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी गुरुवार को कहा कि अब कश्मीर से धारा 370 हटाने का सही समय आ गया है।

साथ…

Bollywood का ऑफर ठुकरा कर ठग बना, नए शिकार की तलाश में ऐसे फंसा

रायपुर । रायपुर पुलिस के हत्थे एक ऐसा शातिर एटीएम फ्रॉड हत्थे चढ़ा है, जिसने बॉलीवुड में मॉडलिंग का ऑफर ठुकराकर शार्टकट पैसा कमाने के चक्कर में ठगी का रास्ता अपना लिया। साथी के साथ पुलिस की गिरफ्त में आए इस ठग को मॉडलिंग का ऑफर प्रसिद्ध गायिका नेहा कक्कड़…

Office के चक्कर लगाना छोड़ें, 'उमंग' ऐप से ऐसे बनाएं पासपोर्ट

रायपुर। भागदौड़ भरी जिंदगी में अब लोगों को पासपोर्ट, ईपीएफओ, ईएसआइसी, जीवन प्रमाण, माय पैन आदि के लिए केंद्रों केचक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। इन सभी केंद्रीय योजनाओं को अब उमंग एप से जोड़ दिया गया है। इससे पासपोर्ट और बाकी प्रमाणपत्र बनवाना आसान हो गया है। उमंग एप…

सागौन के साथ पकड़ाया BJP नेता, इंद्रावती टाइगर रिज़र्व ने की कार्रवाई

बीजापुर । जिले के वन विभाग के अधिकारियों को एक बड़ी सफलता में बड़ी सफलता मिली है। इन्द्रावती टाइगर रिज़र्व विभाग के अधिकारियों ने बीजापुर स्थित नया बस स्टैंड नाका के पास पिकअप से 80 नग अवैध सागौन चिरान की तस्करी कर रहे भाजपा नेता मिथियुस कुजूर और एक सहयोगी…

Social Media पर भ्रामक पोस्ट, गरमाया बिलासपुर लाठीचार्ज कांड

रायपुर। विधानसभा चुनाव के पहले बिलासपुर में कांग्रेसियों पर हुए लाठीचार्ज कांड सोशल मीडिया पर फिर से गरमाया हुआ है। लाठीचार्ज के साथ कांग्रेसियों के लिए आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले लोग अयोध्या और नई दिल्ली के बताए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ऐसे पोस्ट पर चिंता जताई है।…

मनरेगा का भुगतान रूका, मंत्री ने केंद्र सरकार पर लगाया आरोप

रायपुर। राज्य में मनरेगा मजदूरों को 346.66 करोड़ रुपये का भुगतान लंबित है। 79 करोड़ सामग्री का भुगतान लंबित है। पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने सदन में विधायक केशव चंद्रा के सवाल के जवाब में जानकारी दी। चंद्रा ने पूछा कि 41 लाख मजदूरों ने काम किया है। उनकी रोजी…

ओछी राजनीतिः आतंकवाद की आढ़ में ऐसे न फैलाएं नफरत की आग

रायपुर। सोशल मीडिया किसी सामाजिक सूचना को बड़े दायरे में प्रसारित करने का एक बड़ा जरिया बना है, लेकिन इसका तेजी के साथ दुरूपयोग हो रहा है। फेक न्यूज के जरिए समाज में भ्रम और नफरत फैलाने की कोशिशें की जा रही हैं और लोग इसमें कामयाब भी हो रहे…

डॉ.पुनीत ने जुबानी ही करवाए थे करोड़ों के काम, अब चक्कर लगा रही कंपनिया

रायपुर। डीकेएस सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में बतौर अधीक्षक रहते हुए अंतागढ़ टेप कांड के आरोपी डॉ. पुनीत गुप्ता ने करोड़ों के काम सिर्फ बोलकर करवाए। कंपनियों ने भी प्रत्याशा में काम कर दिए कि पैसा तो मिल ही जाएगा, सरकार तो है ही। इनमें अस्पताल में लगा समूचा सिक्योरिटी सिस्टम,…